डेली करेंट अफेयर्स 19 अक्टूबर 2021

शेयर करें

1-यूआईडीएआई आधार हैकथन 2021 का आयोजन करेगा

प्रमुख तथ्य -1:इसे आजादी के अमृत महोत्सव के एक भाग के  रूप में मनाया जा रहा है

2:यह वर्षआधार के लिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि अपने अस्तित्व के अगले दशक में प्रवेश कर रहा है जिसका उद्देश्य नागरिकों के अनुभव और यूआईडीएआई प्रदान की जाने वाली विभिन्न सेवाओं को और बेहतर बनाना है।

3:28 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक चलेगा यह हैकाथन

4:यह कथन दो विषय पर आधारित है और अपडेट से संबंधित है जो वास्तव में निवासियों द्वारा अपना पता अपडेट करते समय हमारे सामने आने वाली कुछ वास्तविक चुनौतियों को कवर करता है जबकि दूसरा विषय पहचान और प्रमाणीकरण समाधान  से जुड़ा हुआ है

5:इसके अलावा, यह चेहरा प्रमाणीकरण एपीआई से जुड़े नवीन अनुप्रयोगों की तलाश कर रहा है। एपीआई यूआईडीएआई द्वारा शुरू किया गया नया प्रमाणीकरण तरीका है।

6:इन चुनौतियों को नवीन तकनीकी समाधान के माध्यम से हल करने के लिए यूआईडीएआई सभी इंजीनियरिंग           कॉलेजों की युवाओं तक पहुंच रहा है।

7:प्रत्येक विषय की विजेताओं को पुरस्कार राशि और एक आकर्षक फ्लावर के माध्यम से यूआईडीएआई द्वारा दिया किया जाएगा कार्यक्रम का विवरण ऑनलाइन होगा। पंजीकरण फॉर्म यहां उपलब्ध हैं

https://hackathon.uidai.gov.in/

2-गरीबी उन्मूलन के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस

प्रमुख तथ्य -1:हर साल 17 अक्टूबर को इसे मनाया जाता है,पहली बार इसे फ्रांस में 1987 में मनाया गया था।

2:निर्धनता में  निर्वहन करते लोगो के प्रयासों और संघर्षों को पहचानने और उन्हें अपनाने के लिए मनाया जाता है,

3:विश्व बैंक का अनुमान है कि कोविड के कारण गरीबों की संख्या 88 से 115 मिलियन तक बढ़ी है जो अभी 163 मिलियन तक बढ़ सकती है।

4:संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 22दिसम्बर 1992 को अपने सकल्प 47/196 के माध्यम से 17 अक्टूबर को गरीबी उन्मूलन के लिए अंतराष्ट्रीय दिवस के रूप में अपनाया।

5:अभी हाल ही में जारी वैश्विक भुखमरी सूचकांक में भारत 116 देशों में से 101वें स्थान पर रहा,जबकि वर्ष 2020 में 107 देशों में भारत 94वें स्थान पर था,जो दर्शाता है की कोविड का  प्रभाव कही न कही रहा है,हालाँकि भारत ने इस सूचकांक पर सवाल भी खड़े किये है।

6:2021  की थीम -“बिल्डिंग फॉरवर्ड टुगेदर” रखी गयी है.जबकि2020  की थीम थी –एक्टिंग टुगेदर टू अचीव सोशल एंड एनवायर्नमेंटल जस्टिस फॉर आल’

क्या है गरीबी —एक ऐसी स्थिति जिसमे व्यक्ति जीवन के निर्वाह के लिए बुनियादी जरूरतों को पूरा करने में असमर्थ होता है,जैसे भोजन वस्त्र और घर।

भारत सरकार की पहल -नीति आयोग ने 2017 में गरीबी दूर करने हेतु एक विज़न डॉक्यूमेंट तैयार किया था जिसमे 2032 तक गरीबी दूर करने की योजना तय की गयी थी। जिसके लिए तीन चरणों में कार्य किया जायेगा 1-गरीबों की गणना,2 -गरीबी उन्मूलन हेतु योजनाए लाना,3 -इन योजनाओं का निरीक्षण करना

गरीबों के लिए सरकार विभिन्न प्रकार की योजनाओ को चला रही है जैसे -मनरेगा,पीएम आवास योजना,प्रधानमंत्री जन धन योजना,उज्ज्वला योजना,दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना,इंदिरा आवास योजना,किसान विकास पत्र,आयुष्मान भारत योजना  इत्यादि।

3-कांगो में एक बार फिर से इबोला प्रकोप

प्रमुख तथ्य-1:4 महीने पहले इसके समाप्त होने के बाद एक बार  फिर से इसे रिपब्लिक ऑफ़ कांगो में देखा गया है,पहली बार 2014 से 2016 में इसके प्रकोप से  100 व्यक्तियों की मौत हो गई थी जिसमे मुख्यतःअफ्रीकी देशों और लाइबेरिया में हुई थी ;

2:परंतु कांगो में मई 2021 में आधिकारिक तौर पर इबोला प्रकोप के अंत की घोषणा की गई थी

क्या है इबोला- एक घातक बीमारी है जो वन्यजीवों से मनुष्य में फैलता है और फिर मानव से मानव समुदाय में संचरण के माध्यम से फैलता रहता है इसके मामलों में मृत्यु दर 50% तक होती है।

क्या है रोकथाम-इसके लिए सामुदायिक भागीदारी अति महत्वपूर्ण है इसके  प्रकोप पर अच्छे तरीके से नियंत्रण,प्रबंधन,निगरानी,और संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान करना जरूरी है,साथ ही सामाजिक जागरूकता भी आवश्यक है।

क्या है उपचार-अभी तक कोई प्रमाणिक उपचार उपलब्ध नहीं है,हालांकि रक्त चिकित्सा और ड्रग थेरेपी जैसे रोग उपचार विकसित किए जा रहे हैं इसके लिए, पुनर्जलीकरण सुविधा प्रदान करने के अलावा प्रारंभिक सहायक देखभाल और लाक्षणिक उपचार जरूरी है।

4-COP26 जलवायु सम्मेलन

प्रमुख तथ्य-1:यूके की अध्यक्षता 31 अक्टूबर -12 नवंबर तक इसका आयोजन किया जाएगा।

2:इस पक्षकारों की पार्टी (COP) का 26वाँ सम्मेलन ग्लास्गो के स्कॉटिश इवेंट कैंपस में किया जाएगा।

3:क्या है कॉप 26- यह 1994 में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन फ्रेमवर्क अभिसमय (UNFCCC) के अधीन कार्य करता है,इनके सदस्यों द्वारा वर्ष 1995 के बाद से हर वर्ष बैठक काआयोजन किया जाता है,इनका पहला सम्मेलन बर्लिन में आयोजित हुआ था।

4:यूएनएफसीसीसी की स्थापना ग्रीन हाउस गैसों की सांद्रता को स्थिर करने के लिए किया गया था इसके अनुसार COP26 चार लक्ष्य पर कार्य कर रहा है-

A: सदी के मध्य तक वैश्विक स्तर पर उत्सर्जन को नेट जीरो करना साथ ही तापमान को 1.5 डिग्री के अंदर रखना।

B: समुदायों और प्राकृतिक आवासों की रक्षा करना।

C: पहले दो लक्ष्य … की पूर्ति के लिए विकासशील देशों द्वारा 2020 तक 100 बिलियन डॉलर जुटाना।

D: पेरिस समझौते को पूरा करने के लिए सूची बनाना तथा वैश्विक नेताओं के साथ मिलकर कार्य करना।

4:भारत अपने जलवायु परिवर्तन संबंधित कानूनी और संस्थागत ढांचे में तेजी से काम कर रहा है।

5-G20 इन्नोवेशन लीग का अनावरण किया इटली ने

प्रमुख तथ्य- 1:स्थाई भविष्य के लिए स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने हेतु सोरंटो इटली में आयोजित हुआ।

2:यह एक अनूठा पहल है जिसमें G-20 देशों के स्टार्टअप सहयोग करके नवीन स्थाई व्यवसायिक परियोजनाओं का विकास कर सकेंगे।

3: इस कार्यक्रम का उद्घाटन इटली के विदेश मंत्री लुइगी डि माईओ ने किया।

4:इटली 30 से 31 अक्टूबर 2021 के बीच रोम में G20 इनोवेशन शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा

5:लिखे एक बयान में कहा गया है अधिक टिकाऊ भविष्य बनाने के लिए संस्थानों और कंपनियों का योगदान ही पर्याप्त नहीं है,आवश्यक है कि स्टार्टअप्स के नए विचार उद्यमशील परियोजनाएं प्राथमिक महत्व की भूमिका निभा सकें

6:स्टार्टअप्स ने 5 श्रेणियों में प्रतियोगिता की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस,क्लीन टेक्नोलॉजी,आईओटी टेक्नोलॉजी और वियरेबल डिवाइसेज,स्मार्ट सिटीज और न्यू मोबिलिटी. और द फ्यूचर ऑफ हेल्थ केयर।

7: इस प्रतियोगिता के पहले चरण में सबसे होनहार स्टार्टअप्स को प्रत्येक G20 देशों में से नामित किया गया था,दूसरे चरण में,फाइनल में पहुंचने वाली 100 स्टार्टअप्स का मूल्यांकन उद्यम निवेशको के द्वारा वित्तीय परिणाम ,उत्पाद विशिष्टता,टीम दक्षता और वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए नए विचारों के आधार पर किया गया ताकि अधिक समावेशी और टिकाऊ भविष्य बनाने में मदद मिल सके।

G20 इनोवेशन लीग अवार्ड

NtechLab (रूस) को सर्वश्रेष्ठ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस स्टार्टअप के लिए।

डॉट (हॉलैंड) और वर्चुओ टेक्नोलॉजीज (फ्रांस) को स्मार्ट सिटीज एंड मोबिलिटी श्रेणी के लिए।

एसीटी बाल्दे (यूके) और बायोमाइक्रोजेल समूह (रूस) को क्लीनटेक श्रेणी के लिए।

जेरिंथ (इटली) और पोका (कनाडा) इंटरनेट ऑफ थिंग्स श्रेणी के लिए, जबकि द फ्यूचर ऑफ हेल्थकेयर, पुरस्कार संसुर बायोटेक (चीन) और नालजेनेटिक्स (इंडोनेशिया) को दिया गया।

भारत में स्टार्टअप-इसे 16 जनवरी 2016 को प्रारंभ किया गया,भारत एक उच्च विकसित स्टार्टअप वातावरण वाला देश है,भारत से बड़ी संख्या में स्टार्टअप्स अगले वर्ष इस प्रतियोगिता में भाग लेंगे,अभी भारत के पास दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप इकोसिस्टम है जिसमें 12 से 15% के लगातार वार्षिक वृद्धि से वार्षिक विकास हो रहा है जून 2021 तक 50,000 से अधिक स्टार्ट है जिनमें से 53 यूनिकॉर्न है और इनमे महिला उद्यमियों की संख्या 14% है।

यूनिकॉर्न क्या है –जिन स्टार्टअप्स का वैलुएशन्स  1 अरब डॉलर तक यानि की करीब 7400 करोड़ के पार हो जाता है। इसी प्रकार 10 अरब डॉलर वाले स्टार्टअप्स को डेकाकॉर्न,और 100 अरब डॉलर के वैलुएशन्स तक पहुंचने वाले स्टार्टअप्स को हेक्टोकॉर्न कहा जाता है ।

 

 

 


शेयर करें

Leave a Comment