डेली करेंट अफेयर्स 11 नवंबर 2021

शेयर करें

1-न्याय विभाग ने शुरू की “टेली लॉ ऑन व्हील” अभियान

सन्दर्भ- :आजादी के अमृत महोत्सव के एक भाग के रूप में 8-14 नवंबर 2021 तक चलने वाले टेली लॉ ऑन व्हील अभियान को आरम्भ किया गया है।
उद्देश्य-इस अभियान द्वारा डिजिटल क़ानूनी सशक्तिकरण के माध्यम से सभी के लिए न्याय की पहुंच को सुनिश्चित करना।
प्रमुख तथ्य-:इसे कॉमन सर्विस सेण्टर(CSC) इ-गवर्नेंस के माध्यम से चलाया जायेगा जिसके पुरे भारत में 4 लाख से अधिक नेटवर्क केंद्र है तथा जो इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय की एक पहल है,जो भारत के विभिन्न क्षेत्रों में इलेक्ट्रॉनिक सेवाओं के वितरण केंद्र के रूप में डिजिटल और वित्तीय रूप से समावेशित समाज के निर्माण में योगदान देते हैं।
: इस अभियान के तहत एक वैन के माध्यम से जो रोज 30-40 किमी की दुरी तय करेगी तथा टेली लॉ सेवाओं को फिल्मो एवं रेडिओं विज्ञापन द्वारा लोगो को जागरूक करेगी ताकि वो अपने निकटम CSC केंद्रों पे जाकर टेली और विडिओ कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से क़ानूनी सलाह एवं परामर्श ले।
:जरुरत मंद लोगो को प्रोत्साहित करने के लिए पुरे भारत में विशेष लॉगिन सप्ताह का भी आयोजन किया जा रहा है।
:इस अभियान केतहत मंत्रालय द्वारा एक टेली लॉ मोबाइल ऐप 13 नवंबर को लांच किया जा रहा है,जिसके द्वारा लाभार्थी वकीलों के पैनल से जुड़कर क़ानूनी सलाह एवं परामर्श ले सकते है।

2-उत्तर भारत से तेंदुए हो सकते है विलुप्त

चर्चा का कारण- हाल ही में एक जर्नल ग्लोबल इकोलॉजी एंड बायोग्राफी में प्रकाशित एक अध्ययन से ज्ञात हुवा है कि सड़क दुर्घटना में जान गवाने के कारण तेंदुओं की संख्या में काफी कमी आयी है जिस कारण इनके विलुप्त होने का खतरा 83%तक बढ़ गया है।
प्रमुख तथ्य-:भारत के सन्दर्भ में यदि इसी दर से ये घटित होता रहा तो अगले 50 वर्षों में विलुप्त होने वाले सबसे सवेदनशील चार पशु जातियों में से उत्तर भारत के तेंदुओं की संख्या सबसे ज्यादे प्रभावित होगी।
:तेंदुओं की संख्या के बाद अधिक प्रभावित होंगे,वो है ब्राजील में पाए जाने वाले मैन्ड भेड़िये और लिटिल स्पॉटेड कैट और दक्षिण अफ्रीका के भूरे रंग वाला लकड़बघ्घा।
:अध्ययन के आधार पर 83% बढे जोखिम के कारण आने वाले 33 वर्षों में उत्तर भारत के तेंदुए एकदम विलुप्त हो जायेंगे।
भारत में तेंदुए की स्थिति-केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने विश्व बाघ दिवस 29 जुलाई 2021 पर एक रिपोर्ट जारी की थी जिसका शीर्षक था –भारत में तेंदुओं की स्थिति 2018,जिसमे आधिकारिक रूप से 2014 -2018 के मध्य इनकी संख्या में 63% की वृद्धि बताई है,जिससे इनकी आबादी 2018 में 12852 होगयी जबकि 2014 में इनकी संख्या मात्र 7910 थी।
इसकी अधिकतम संख्या मध्य प्रदेश में 3421 है, कर्णाटक में 1783 और महाराष्ट्र में 1690 बताई गयी है।


तेंदुए के बारे में-:इसका वैज्ञानिक नाम पैंथरा पर्दूस है,जो मुख्य रूप से भारतीय उप महाद्वीप में वृहद् रूप से पाया जाता है।
:इसे भारतीय वन्यजीव सरंक्षण अधिनियम,1972 की अनुसूची 1 में तथा CITES के परिशिष्ट-1 में भी शामिल किया गया है।
:IUCN की रेड डाटा सूची में यह संवेदनशील(वल्नरेबल) की सूची में शामिल है।

3-ग्लास्गो में उद्घाटन किया गया “गंगा कनेक्ट प्रदर्शनी का”

 सन्दर्भ-केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने 8 नवंबर 2021 को स्कॉटलैंड के सबसे बड़े शैक्षणिक संस्थान सिटी ऑफ़ ग्लासगो कॉलेज में गंगा कनेक्ट प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।
उद्देश्य –यह प्रदर्शनी cop-26 सम्मलेन में उपस्थित पर्यावरण हितैषियों के समक्ष गंगा नदी बेसिन में हुए विकास के स्तर को दिखाने का एक प्रयास था।
महत्त्व-इस परियोजना के माध्यम से गंगा नदी बेसिन और उसके पारिस्थिकी तंत्र को संरक्षित और सुरक्षित रखने के बारे में व्यापक जागरूकता फ़ैलायी जाएगी। इसके अतिरिक्त गंगा नदी के पारिस्थितिकी तंत्र के आकार,परिमाण और जटिलता की स्पस्ट और गहरी समझ पैदा करती और साथ ही उसके समाधानों पर भी प्रकाश डालती है।
प्रमुख तथ्य-:इस प्रदर्शनी के माध्यम से गंगा नदी को वैश्विक प्रद्योगिकी और वैज्ञानिक समुदाय के लिए अत्याधुनिक पर्यावरणीय समाधान विकसित करने हेतु एक प्रमुख प्रयोगशाला के रूप में रख रही है।
:रणनीतिक चर्चा के आधार पर यह भी बात उठी की भारत और स्कॉटलैंड पानी और जलवायु परिवर्तन से मुद्दों को हल करने में कैसे सहयोग कर सकते है।
:गंगा कनेक्ट ग्लास्गो से शुरू होकर कार्डिफ,बर्मिघम,ऑक्सफ़ोर्ड सहित यूके के अन्य शहरों में आयोजित होने के बाद लन्दन में समाप्त होगा।

4-बिरसा मुंडा के जन्मदिवस 15 नवंबर को “जनजातीय गौरव दिवस “के रूप में घोषित किया गया

चर्च क्यों है-प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में घोषित करने को मंजूरी दी है।इस दिन बिरसा मुंडा की जयंती होती है जिसे पुरे देश के आदिवासी समुदाय इनकी भगवन के रूप में पूजा करते है।
महत्त्व क्या है -यह दिन वीर आदिवासि स्वतंत्रता सेनानियों की स्मृति में सपर्पित है ताकि आने वाली पीढ़िया देश के प्रति उनके बलिदानो के बारे में जान सके।
प्रमुख तथ्य-:संथाल तमार,कोल भील खासी और मिजो जैसी कई जनजातियों ने विभिन्न आंदोलनों के माध्यम से भारत के स्वतंत्रता संग्राम को मजबूत किया था।
:इसी लिए प्रधानमंत्री ने इनके सम्मान में 2016 में स्वतंत्रता दिवस पर देश भर में 10 जनजातीय स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालयों को मंजूरी दी है।
:यह जनजातीय गौरव दिवस हर वर्ष मनाया जायेगा और सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण और वीरता,आतिथ्य और राष्ट्रीय गौरव के भारतीय मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए आदिवासियों के प्रयासों को मान्यता देगा।
:प्रधानमंत्री रांची में जनजातीय स्वतंत्रता सेनानी संग्रहालय का उद्घाटन करेंगे जहा बिरसा मुंडा ने अंतिम साँस ली थी।
:15-22 नवम्बर 2021 तक इस गौरवशाली इतिहास के पुरे होने के उपलक्ष्य में उत्सव एवं समारोह का आयोजन किया जायेगा।

5-कनाडा में मिला दुनिया का पहला जलवायु परिवर्तन रोगी

चर्चा में क्यों है-कनाडा के एक रोगी को सांस लेने में तकलीफ होने की शिकायत पर हॉस्पिटल लाया गया था,जहाँ इसे दुनिया का पहला जलवायु परिवर्तन से पीड़ित मरीज बताया गया है।
प्रमुख तथ्य –इस समस्या का सामना कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के कुटेनेज क्षेत्र के जंगलों में आग लगने के बाद कई लोगों को करना पड़ा है।
:इस साल कूटेनेज क्षेत्र में लगभग 1600 बार जंगलों में आग लग चुकी है,इस कारण ब्रिटिश कोलंबिया के लिटन में अधिकतम तापमान 49.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने के साथ ही हीट वेव्स के मामले में भी वृद्धि दर्ज की गई है।
:यह मामला और भी गंभीर हो जाता है क्योंकि जहां सार्वजनिक स्वास्थ्य और जलवायु परिवर्तन परCOP-26 सम्मेलन में विचार किया जा रहा है,वही दूसरी और मानवजनित या प्राकृतिक कारणों से जंगलों की ऐसी स्थिति का होना सोचने पर मजबूर करती है।
हिट वेव्स:एक ऐसी स्थिति है जब हवा का बढ़ता तापमान मानव शरीर के लिए घातक हो जाता है इसका निर्माण तब बहोता हैं जब मैदानी इलाकों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस और पहाड़ी क्षेत्रों में 30 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है।
:यह भारत में मुख्य रूप से मार्च से जून के दौरान और कुछ दुर्लभ मामलों में जुलाई में भी देखने को मिलती हैं,इनका मानव और पशु जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव होता हैं।

6-ISSF प्रेसिडेंट्स कप में भारत ने जीते 5 पदक

प्रमुख तथ्य-: इंटरेनशनल शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन (ISSF) प्रेसिडेंट्स कप का आयोजन पोलैंड के शहर व्रोकला में किया गया था
:मनु भाकर ने ISSF प्रेसिडेंट कप में दूसरा स्वर्ण पदक जीत लिया है उन्होंने 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल मिश्रित स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता।
:इस जीत के साथ टूर्नामेंट के अंतिम दिन भारत का सफर 5 पदको के साथ समाप्त हुआ।
:मनु भाकर ने इस प्रतियोगिता में तुर्की की ओजगुर वर्लिक को अपना जोड़ीदार बनाया था,उन्होंने श्याओ और पीटर वोलेस्क की चीन-एस्टोनियाई जोड़ी को 9-7 के अंतर से हराकर यह प्रतियोगिता जीती।
भारत के विजेताओं में शामिल हैमनु भाकर-दो स्वर्ण पदक, राही सरनोबत-रजत पदक महिला 25 मीटर फाइनल,सौरभ चौधरी-रजत पदक,पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतियोगिता में,और अभिषेक वर्मा-कांस्य पदक पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतियोगिता में।
:इसमें साल के सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत एथलीट को चुनने के लिए विश्व रैंकिंग के आधार पर शीर्ष 12 निशानेबाजों को आमंत्रित किया जाता है।
:व्यक्तिगत विजेताओं को पुरस्कार राशि के साथ गोल्डन टारगेट से सम्मानित किया जाएगा।


शेयर करें

Leave a Comment