ग्लोबल रिस्क रिपोर्ट-2022 का नया संस्करण जारी

शेयर करें

ग्लोबल रिस्क रिपोर्ट-2022 का नया संस्करण

सन्दर्भ-हाल ही में ग्लोबल रिस्क रिपोर्ट -2022 के 17वें संस्करण को जारो किया गया।
प्रमुख तथ्य-इस रिपोर्ट को जिनेवा स्थित विश्व आर्थिक मंच (WEF-World Economic Forum) द्वारा जारी किया जाता है।
:यह रिपोर्ट व्यापार,सरकार और समाज में विशेषज्ञों और वैश्विक नेताओं की वैश्विक जोखिम को ट्रैक करती है।
:यह रिपोर्ट पांच श्रेणियों के तहत जोखिमों की जाँच करती है-आर्थिक,पर्यावरण,सामाजिक,भू राजनीतिक और तकनिकी।
:रिपोर्ट में प्रथम 10 वैश्विक जोखिमों में से 5 पर्यावरण से जुडी हुई है।
:पर्यावरणीय जोखिमों में प्रमुख है-चरम मौसम,जलवायु कार्रवाई,असफलता,और जैव विविधता हानि।
:अल्पकालिक जोखिमों में स्वास्थ्य और सामाजिक दूरी और स्वास्थ्य जैसे जोखिम शामिल है।
रिपोर्ट का विश्लेषण- :रिपोर्ट के अनुसार कोविड महामारी के कारण उत्पन्न सबसे गंभीर चुनौती अर्तव्यवस्था का ठप होना है,जिससे लोग बेहतर भविष्य की तलाश में पलायन कर रहे है।
:समाज,व्यसायों और और सरकारों पर आर्थिक संक्रमण का काफी दबाव बढा है।
:डिजिटल सिस्टम पर निर्भरता बहुत बढ़ गयी है।
:हालाँकि लम्बी अवधि के लिए कोविड से ज्यादे बड़ा खतरा होगा जलवायु परिवर्तन होगा।
:इनके अतिरिक्त भारत के सामने खतरे है-युवाओं का मतिभ्रम है,राज्यों के बीच ख़राब होते रिश्ते,तकनीकि आधारित प्रशासन की विफलता,कर्ज का बढ़ना,और डिजिटल असमानता।


शेयर करें

Leave a Comment