ग्रामीण कनेक्टिविटी जीआईएस डेटा जारी होगी

शेयर करें

GRAMIN CONNECTIVITY GIS DATA
“ग्रामीण कनेक्टिविटी जीआईएस” डेटा

सन्दर्भ-केंद्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री श्री गिरिराज सिंह 22 फरवरी, 2022 को नई दिल्ली के इंडिया हैबिटेट सेंटर में सार्वजनिक क्षेत्र में “ग्रामीण कनेक्टिविटी जीआईएस डेटा “जारी करेंगे।
प्रमुख तथ्य-पीएमजीएसवाई के कार्यान्वयन के हिस्से के रूप में,योजना के लिए विकसित जीआईएस प्लेटफॉर्म का उपयोग किया जाएगा।
:जिसमे 800,000 से अधिक ग्रामीण सुविधाओं के लिए जीआईएस डेटा,1 मिलियन से अधिक आवास और 25,00,000 किलोमीटर से अधिक लम्बाई की ग्रामीण सड़कों के लिए डाटा एकत्र और डिजिटल किया गया है।
:इस एकत्रित ग्रामीण कनेक्टिविटी जीआईएस डाटा को जनता के लिए उपलब्ध किया जाएगा।
:NRIDA,3 प्रसिद्ध जीआईएस फर्मों के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करेगी और सार्वजनिक क्षेत्र में ग्रामीण कनेक्टिविटी जीआईएस डेटा जारी करने के लिए गति शक्ति के साथ सहयोग करेगी।
:”गति शक्ति” रसद लागत को कम करने और बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के लिए भारत में बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की योजना बनाने और निष्पादित करने के लिए एक राष्ट्रीय मास्टर प्लान और डिजिटल प्लेटफॉर्म है।
:NRIDA दोनों योजनाओं की बेहतर योजना और कार्यान्वयन के लिए डेटा का आदान-प्रदान करने के उद्देश्य से गति शक्ति के साथ सहयोग कर रहा है।
:जीआईएस डेटा का शुभारंभ तकनीकी सत्र के बाद किया जाएगा जहां ईएसआरआई इंडिया,मैपमाईइंडिया,डेटामीट,गति शक्ति और सीडीएसी पुणे द्वारा प्रस्तुतिकरण किया जाएगा।
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (PMGSY)- इसे वर्ष 2000 में शुरू किया गया था,जिसका उद्देश्य पूरे देश में योग्य असंबद्ध बस्तियों को हर मौसम में उचित सड़क संपर्क प्रदान करना था।
:बाद में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के उद्देश्य के रूप में मार्गों और प्रमुख ग्रामीण सम्पर्क के उन्नयन और समेकन को भी शामिल किया गया था।
:योजना के शुरू होने के बाद से,7.83 लाख किलोमीटर सड़कों को मंजूरी दी गई है,और 6.90 लाख किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया गया जिसकी कुल लागत 2.69 लाख करोड़ रुपये है।


शेयर करें

Leave a Comment