“गोबर-धन संयंत्र” का उद्घाटन करेंगे प्रधानमंत्री

शेयर करें

INDORE GOBARDHAN SANYANTR
गोबर-धन संयंत्र का उद्घाटन

सन्दर्भ-प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 19 फरवरी को इंदौर में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए “गोबर-धन (बायो-सीएनजी) संयंत्र” का उद्घाटन करेंगे।
प्रमुख तथ्य-हाल ही में “कचरा मुक्त शहर” बनाने के समग्र दृष्टिकोण के साथ स्वच्छ भारत मिशन शहरी 2.0 का शुभारंभ किया गया था।
:इस मिशन को “वेस्ट टू वेल्थ”,और “सर्कुलर इकोनॉमी” के व्यापक सिद्धांतों के अंतर्गत लागू किया जा रहा है,ताकि संसाधनों से होने वाली रिकवरी को अधिकतम किया जा सके।
:इंदौर बायोसीएनजी संयंत्र में इन दोनों का उपयोग किया जा रहा है।
:ये संयंत्र जीरो लैंडफिल मॉडल पर आधारित है, जिससे कोई रद्दियां यानी रिजेक्ट्स पैदा नहीं होंगी।
: इस परियोजना से कई पर्यावरण संबंधी लाभ होने की संभावना है,जैसे ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन में कमी,जैविक खाद और हरित ऊर्जा आदि।
:इस संयंत्र में प्रतिदिन 550 टन अलग किए हुए गीले जैविक कचरे को ट्रीट करने की क्षमता है।
:इससे प्रतिदिन लगभग 17,000 किलोग्राम सीएनजी और प्रतिदिन 100 टन जैविक खाद का उत्पादन होने की उम्मीद है।
:इंदौर क्लीन एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड इस परियोजना को लागू करने के लिए बनाया गया एक विशेष प्रयोजन वाहन (एसपीवी) है,इसका निर्माण PPP मॉडल पर इंदौर नगर निगम और इंडो एनवायरो इंटीग्रेटेड सॉल्यूशंस लिमिटेड (IEISL) द्वारा स्थापित किया गया था।
:इंदौर नगर निगम इस संयंत्र द्वारा उत्पादित सीएनजी का न्यूनतम 50% खरीदेगा और अपनी तरह की एक नई पहल में 400 सिटी बसें सीएनजी पर चलाएगा।
:सीएनजी की शेष बची मात्रा खुले बाजार में बेची जाएगी जो जैविक खाद कृषि और बागवानी जैसे उद्देश्यों के लिए रासायनिक उर्वरकों का स्थान लेने में मदद करेगी।


शेयर करें

Leave a Comment