एआईआईबी (AIIB) के नए उपाध्यक्ष बने उर्जित पटेल

शेयर करें

एआईआईबी (AIIB) के नए उपाध्यक्ष बने उर्जित पटेल

सन्दर्भ-आरबीआई के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल को 9 जनवरी 2022 को बीजिंग स्थित बहुपक्षीय वित्त पोषण संस्थान एआईआईबी(AIIB) के उपाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया है। अभी इसका नेतृत्व चीन के पूर्व वित्त मंत्री जिन लिकुन कर रहे हैं।
प्रमुख तथ्य-:भारत,एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (एआईआईबी) का संस्थापक सदस्य है,जिसके पास चीन के बाद दूसरा सबसे बड़ा वोटिंग शेयर है।
:58 वर्षीय उर्जित पटेल अपने तीन साल के कार्यकाल के साथ एआईआईबी के पांच उपाध्यक्षों में से एक होंगे।
:वह निवर्तमान उपाध्यक्ष डी जे पांडियन का स्थान लेंगे,जो दक्षिण एशिया, प्रशांत द्वीप समूह और दक्षिण-पूर्व एशिया में एआईआईबी के संप्रभु और गैर-संप्रभु ऋण के प्रभारी हैं।
:उर्जित पटेल ने 5 सितंबर 2016 को रघुराम राजन के स्थान पर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के 24वें गवर्नर के रूप में पदभार ग्रहण किया था।
:परन्तु व्यक्तिगत कारणों से दिसंबर 2018 में इस्तीफा दे दिया था।
:इससे पूर्व उर्जित पटेल अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF),बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप,और रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसे अन्य संगठनों में कार्य कर चुके है।
:एआईआईबी ने 2016 में 57 संस्थापक सदस्यों (37 क्षेत्रीय और 20 गैर-क्षेत्रीय) के साथ परिचालन शुरू किया।
:2018 में, AIIB को संयुक्त राष्ट्र महासभा और आर्थिक तथा सामाजिक परिषद,वैश्विक निकाय के दो विकास-केंद्रित प्रमुख अंगों के विचार-विमर्श में स्थायी पर्यवेक्षक का दर्जा दिया गया था।
:यह बैंक जनवरी 2016 से अपना परिचालन शुरू किया और अब तक पुरे विश्व से इसके 105 स्वीकृत सदस्य बन चुके है।
:अमेरिका और जापान जैसे विकसित देश अभी इसकी सदस्यता ग्रहण नहीं किए है।
:एआईआईबी (AIIB),भारत में 6.7 अरब डॉलर की 28 परियोजनाओं का वित्तपोषण किया है।


शेयर करें

Leave a Comment