इंडो-पैसिफिक मिलिट्री हेल्थ एक्सचेंज सम्मेलन

शेयर करें

IPMHE 2022
इंडो-पैसिफिक मिलिट्री हेल्थ एक्सचेंज सम्मेलन

सन्दर्भ-केंद्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने चार दिवसीय “इंडो-पैसिफिक मिलिट्री हेल्थ एक्सचेंज (IPMHE)” सम्मेलन का उद्घाटन किया।
थीम/विषय- “एक अस्थिर,अनिश्चित,जटिल और अस्पष्ट (VUCA) दुनिया में सैन्य स्वास्थ्य सेवा” है।
उद्देश्य है-सैन्य चिकित्सा में सहयोग और संयुक्त कौशल को बढ़ाना।
प्रमुख तथ्य-इस सम्मलेन का आयोजन 7-10 मार्च 2022 तक किया जाएगा।
:सम्मलेन की सह मेजबानी सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा (AFMS) और यूएस-इंडो पैसिफिक कमांड द्वारा की गई।
:सम्मेलन में 38 से अधिक देशों के 600 से अधिक भारतीय और विदेशी प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
:सम्मलेन में प्रतिनिधि और वक्ता चार दिनों में 110 विषयों पर बातचीत कर अनुभव साझा करेंगे।
:इंडो-पैसिफिक का विचार “वसुधैव कुटुम्बकम” (दुनिया एक परिवार है) की भावना को दर्शाता है।
:2018 में सिंगापुर में शांगरी ला डायलॉग में प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा था कि इंडो-पैसिफिक एक स्वतंत्र,खुले,समावेशी क्षेत्र के लिए खड़ा है,जो प्रगति और समृद्धि की एक साझा खोज में सभी को शामिल करता है।
:IPMHE सैन्य चिकित्सा,मानवीय सहायता,आपदा राहत,संक्रामक रोग,मेडिकल लॉजिस्टिक और संबंधित मुद्दों से जुड़े समकालीन,वास्तविक समय पर और प्रासंगिक मामले को हल कर रहा है।
IPMHE के बारे में -:यह पहले एशिया पैसिफिक मिलिट्री हेल्थ एक्सचेंज (IPMHE) के नाम से जाना जाता है।
:इसकी उत्पति एशिया प्रशांत सैन्य चिकित्सा सम्मलेन में हुई जिसका आयोजन पहली बार 1990 में किया गया था।
:आयोजन के दौरान देश के चिकित्सा पेशेवर भाग लेते है और वैश्विक स्वास्थ्य मुद्दों पर चर्चा करते है।


शेयर करें

Leave a Comment