आरबीआई ने ई-आरयूपीआई(e-RUPI) की सीमा बढ़ाई

शेयर करें

E-RUPI SEEMA BADHAYI GAYI
e-RUPI

सन्दर्भ-भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 10 फरवरी 2022 को ई-आरयूपीआई (e-RUPI) वाउचर के लिए राशि की सीमा को वर्तमान में 10 हज़ार रुपये से बढ़ाकर 1 लाख रुपये करने का प्रस्ताव रखा है।
कारण है-ताकि इन वाउचर के आवेदन के उपयोग के दायरे को बढ़ाया जा सके और लाभार्थियों को विभिन्न सरकारी सेवाएं कुशलतापूर्वक तेजी से वितरण की सुविधा मिल सके।
प्रमुख तथ्य-:e-RUPI वाउचर का उपयोग कई बार किया जा सकता है,जब तक कि वाउचर की राशि पूरी तरह से भुनाई न जाए।
:वर्तमान में, प्रत्येक वाउचर को केवल एक बार भुनाया जा सकता हैइस संबंध में,आरबीआई,भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) को आवश्यक निर्देश जारी करेगा।
:इससे लाभार्थियों को विभिन्न सरकारी योजनाओं के वितरण में और अधिक आसानी होगी।
:e-RUPI अगस्त 2021 में लॉन्च किया गया,और वर्तमान में,कैशलेस भुगतान की सुविधा के लिए एक बार उपयोग किया जाने वाला डिजिटल समाधान है,जो विशिष्ट व्यक्ति और उद्देश्य परक विभिन्न सेवाओं जैसे कि कोविड टीकाकरण,दान,कॉर्पोरेट उपहार वाउचर,आदि के लिए है।
:e-RUPI केवल आरबीआई द्वारा प्रीपेड भुगतान उपकरण (पीपीआई) जारी करने के लिए अधिकृत बैंकों द्वारा जारी किया जा सकता है,और जो UPI इकोसिस्टम में भुगतान सेवा प्रदाता (PSP) के रूप में भाग ले रहे हैं।
:e-RUPI वाउचर वर्तमान में बड़े पैमाने पर कोविड -19 टीकाकरण उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जा रहे हैं।
:विभिन्न राज्य सरकारों और केंद्र सरकार के मंत्रालयों और विभागों द्वारा अन्य उपयोग के मामलों पर सक्रिय रूप से विचार किया जा रहा है।


शेयर करें

Leave a Comment