आज है राष्ट्रिय किसान दिवस 2021

शेयर करें

राष्ट्रिय किसान दिवस 2021

सन्दर्भ-हर वर्ष भारत में 23 दिसंबर को राष्ट्रीय किसान दिवस जाता है।
प्रमुख तथ्य- :इस दिवस को किसान दिवस के रूप मे जाना जाता है।
:इसे भारत के पांचवे प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती के अवसर पर मनाया जाता है।
:इसी वजह से भारत सरकार ने वर्ष 2001 में चौधरी चरण सिंह के सम्मान में हर वर्ष किसान दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया।
:इस वर्ष तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के वापसी के पृष्टभूमि के रूप में मनाया जा रहा है।
चौधरी चरण सिंह-:इनका जन्म उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के नूरपुर में 1902 में हुआ था।
:ये पहली बार 1937 में छपरौली से विधानसभा के लिए चुने जाते है।
:एक किसान नेता के रूप में चौधरी चरण सिंह ने भारतीय किसानों के जीवन को बेहतर बनाने में अहम् भूमिका रही है।
:जुलाई 1979 से जनवरी 1980 तक देश के प्रधानमंत्री के रूप में इन्होने ने किसानों के लिए कई अहम् नीतियों का निर्माण किया।
:ये उत्तर प्रदेश में भूमि सुधारों के प्रमुख वास्तुकार थे।
:उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में इनकी सेवाएं दो बार रही अप्रैल 1967 से फ़रवरी 1968 और फरवरी 1970 से अक्टूबर 1970 तक।
:इनके द्वारा तैयार किया गया जमींदारी उन्मूलन विधेयक राज्य के कल्याणकारी सिद्धांत पर आधारित था,जिसके कारण उत्तर :प्रदेश में 1 जुलाई 1952 को जमींदारी प्रथा ख़त्म हुई और गरीबों को उनका अधिकार मिला था।
इनकी कुछ रचनाएँ है-अबोलिसन ऑफ़ ज़मींदारी,कोआपरेटिव फार्मिंग एक्सरेड,इंडियाज पावर्टी एंड इट्स सॉलूशन्स,प्रिवेंशन ऑफ़ डिवीज़न ऑफ़ होल्डिंग्स बेलो ए सर्टेन मिनिमम,पैसन्ट प्रोप्रिटरशीप ऒर लैंड टू द वर्कर्स।

इस दिन का महत्त्व-यह कृषि क्षेत्र की नवीनतम सीखों के साथ समाज के किसानो को सशक्त बनाने का विचार देता है,साथ ही किसानो के विभिन्न मुद्दों के बारे में शिक्षित भी करता है।


शेयर करें

Leave a Comment