अदिति अशोक सहित 10 अन्य एथलीटों को टॉप्स योजना में शामिल किया गया

शेयर करें

टॉप्स योजना

सन्दर्भ-अदिति अशोक सहित पांच गोल्फ खिलाडियों के साथ 10 और एथलीटों को लक्ष्य पोडियम योजना के टॉप्स में शामिल किया गया है।
प्रमुख तथ्य-इस योजना के तहत सभी खिलाड़िओं को सहायता प्रदान की जाएगी।
इस योजना का कार्यान्वयन युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय के ओलंपिक अभियान प्रकोष्ठ द्वारा किया जा रहा है।
:पांच खिलाडियों-अदिति अशोक,अनिर्बान लाहिड़ी,दीक्षा डागर (सभी गोल्फ),मोहम्मद आरिफ खान(अल्पाइन स्कीयर),फौआद मिर्ज़ा (घुड़सवार) को कोर ग्रुप में शामिल किया गया है।
:शुभाँकर शर्मा और त्वेसा मलिक (सभी गोल्फर),यश घंगास,उन्नति शर्मा,लिथोई चनंबम (सभी जूडो खिलाडी) को विकास समूह में शामिल किया गया है।
:इस तरह लक्ष्य पोडियम योजना-टॉप्स के तहत शामिल कुल खिलाड़िओं की संख्या अब 301 हो गयी है,जिनमे 107 खिलाडी कोर ग्रुप में है।
:अदिति अशोक ने टोक्यों ओलम्पिक 2020 में पदक की दौड़ में शामिल थी।
:दीक्षा डागर 2017 ग्रीष्मकालीन डिफ़्लिम्पिक्स में रजत पदक विजेता थी,ये पिछले वर्ष ओलम्पिक में 50वें स्थान पर थी।
:किशोर जूडो खिलाड़ी यश घंगास (100 किलोग्राम से अधिक), लिंथोई चनंबम (57 किलोग्राम) और उन्नति शर्मा (63 किलोग्राम) ने पिछले महीने बेरूत के लेबनान में एशिया-ओशिनिया जूनियर चैंपियनशिप में एक-एक रजत पदक जीता था।
:राइडिंग सिगनूर मेडिकाट फौआद मिर्ज़ा ने जकार्ता में 2018 में आयोजित एशियाई खेलों में व्यक्तिगत स्पर्धा का रजत पदक जीता और पिछले साल टोक्यो में ओलंपिक खेलों में 23 वें स्थान पर रहे।
:जर्मनी में रहने वाले फौआद वर्तमान में दुनिया में 87 वें स्थान पर है। 29 वर्षीय घुड़सवार, सितंबर में सोपोट में और नवंबर में प्रटोनी डेल विवारो में दो प्रतियोगिताओं के शीर्ष 10 स्थानों में प्रवेश कर चुके हैं।
:मुहम्मद आरिफ खान जो जम्मू और कश्मीर के गुलमर्ग के रहने वाले है ने अगले महीने बीजिंग में होने वाले शीतकालीन ओलम्पिक खेलों 2022 के लिए क्वालीफाइ होने वाले पहले भारतीय अल्पाइन स्कीयर है।
एसीटीसी-अर्थात राष्ट्रीय खेल संघ प्रशिक्षण और प्रतियोगिता जो खेल मंत्रालय के तहत वार्षिक कैलैंडर के अंतर्गत विशिष्ट एथलीटों को सहयता प्रदान करता है।
टॉप्स योजना-इसके तहत उन क्षेत्रों में एथलीटों को अनुकूलित सहायता प्रदान की जाती है जो एसीटीसी के तहत नहीं आते है और एथलीटों की अप्रत्याशित जरूरतों को पूरा करते है,क्योकि वे ओलम्पिक और पैरा ओलम्पिक खेलों में उत्कृष्टता प्राप्त करने हेतु तैयारी करते है।
:टॉप योजना/टारगेट ओलम्पिक पोडियम योजना की शुरुआत 2014 में राष्ट्रीय खेल विकास कोष के तहत की गयी थी,जिसका लक्ष्य है ओलम्पिक खेलों में पदक जितने की सम्भावना रखने वाले एथलीटों को पहचानना और उन्हें ओलम्पिक की तैयारी के लिए सहयोग और समर्थन देना।


शेयर करें

Leave a Comment